Breaking News
Home / News / घर में घुसे आतंकियों का जब हुआ सेना के जवान से सामना फिर उसने दिखाया कुछ ऐसा हौसला कि जानकर आप…

घर में घुसे आतंकियों का जब हुआ सेना के जवान से सामना फिर उसने दिखाया कुछ ऐसा हौसला कि जानकर आप…

जम्मू कश्मीर में आतंकवादी आये दिन सेना के जवानों की बेरहमी से हत्या कर रहे हैं. आतंकवादियों ने हाल ही में उन जवानों को निशाना बनाना शुरु किया है जो छुट्टियों पर घर आये हुए होते हैं. बावजूद इसके कि सेना के जवान बिना किसी डर और खौफ के अपनी जिंदगी देश के लिए न्यौछावर कर रहे हैं. जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले में ऐसी घटना हुई जिसे जानकर आपकी रुह कांप जायेगी. प्रादेशिक सेना के जवान मुख्तार अहमद मलिक से आतंकवादियों ने सेना की तैनाती के बारे में जानकारी मांगी लेकिन जवान ने जो जवाब दिया वह जानकर आप उसके जज्बे को सैल्यूट किए बिना नही रहेंगे.

सेना के जवान को आतंकवादियों ने मारी गोली: (Image Source-indiatoday)

लांस नायक ने कहा ‘गोली मारना हो तो मार दो लेकिन सवाल मत करो’ और फिर…

आतंकवादियों ने जम्मू कश्मीर के कुलगाम में मानवता की सारी हदें पार करते हुए सेना के एक जवान को मौत के घाट उतार दिया. सेना में लांस नायक मुख्तार अहमद मलिक से आतंकवादियों ने सेना की तैनाती के बारें मे जानकारी मांगी थी लेकिन उन्होंने बहादुरी का परिचय देते हुए कहा अगर आप मुझे गोली मारना चाहते हैं तो मार दें लेकिन मुझसे सवाल मत पूछिए. इसके बाद आतंकवादियों ने मलिक को काफी करीब से गोली मार दी जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई.

आतंकवादियों का दस्ता: (Image Source-Punjabkesari)

 

सबसे दुखद बात तो यह थी कि मुख्तार अहमद मलिक अपने बेटे की मौत पर घर आये हुए थे. लांस नायक मुख्तार अहमद मलिक का बेटा एक दुर्घटना में घायल हो गया था. अस्पताल में 4 दिन तक जिंदगी और मौत से लड़ते हुए उसने 15 सितंबर को दम तोड़ दिया था.

अधिकारियों के अनुसार मलिक का परिवार जब अपने बेटे की मौत के बाद रस्म-ए-चौरम कर रहा था तभी आतंकवादी उनके घर में घुस आये. दरअसल आतंकवादी उनके घर की तलाशी ले रहे थे इस दौरान मलिक का घर के पहली मंजिल पर उनसे सामना हो गया. आतंकवादियों उनसे सेना की तैनाती से संबंधित सवाल करने लगे. लेकिन आतंकवादियों के सवाल का जवाब देने के बजाय मुख्तार अहमद मलिक ने कहा कि ‘आप चाहे तो गोली मार दें लेकिन मुझसे सवाल मत पूछिए.’ इसके बाद आतंकवादियों ने उन्हें गोली मार दी. मलिक की मौके पर ही मौत हो गई.  आतंकवादी वहां से भागने में कामयाब रहे.

जम्मू कश्मीर में सेना के जवान एक अभियान के दौरान: (Image Source-Punjabkesari)

 

मुख्तार अमहद मलिक का घर दक्षिण कश्मीर के आतंकवाद प्रभावित कुलगाम जिले के चुरत गांव में है. चश्मदीदों ने पुलिस अधिकारियों को बताया कि आतंकवादी कई दिनों से मुख्तार अहमद मलिक पर नजर रख रहे थे और उनके घर पहुंचते ही तलाशी लेने लगे.

आपसे एक सीधा सवाल

क्या आतंकवादियों को पकड़ने और उनसे निजात पाने के लिए सरकार को कोई और रास्ता अपनाना चाहिए?

News Source-Ajjtak