Breaking News
Home / Viral / राजस्थान का चुनाव जीतने के लिए बीजेपी बांटने वाली है 10 लाख बाइक? जानिये इसके पीछे की असली सच्चाई

राजस्थान का चुनाव जीतने के लिए बीजेपी बांटने वाली है 10 लाख बाइक? जानिये इसके पीछे की असली सच्चाई

आने वाले कुछ ही महीनों में देश के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव और देश में लोकसभा चुनाव होने वाले है जिसके मद्देनजर तमाम पार्टियों ने तैयारियां शुरू कर दी है. प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी की लोकप्रियता को देखते हुए विपक्ष परेशान है. अब विपक्ष बीजेपी के खिलाफ झूठी खबर फैलाकर लोगों को भ्रमित कर रही है. ऐसी ही एक खबर वायरल हो रही है जिसमे कहा जा रहा है कि बीजेपी 10 लाख गाड़ियां बांटने जा रही है. देखिये क्या बीजेपी राजस्थान में 10 लाख मोटरसाईकिल बांटने जा रही है – जानिये सच्चाई.

Source-Catch News

दरअसल सोशल मीडिया पर बीजेपी के खिलाफ गलत ख़बरें पेश की जा रही है. इसके जरिये विरोधी लोगों की भ्रमित करने का काम कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है जिसमें बीजेपी के चुनाव चिन्ह लगी हुई कुछ बाइक नजर आ रही है. इसके साथ लिखा जा रहा है कि “भाजपा सारे राजस्थान में अपने कार्यकर्ताओं को चुनाव प्रचार के लिए 10 लाख मोटरसाइकिल बांट रही है. इसे कहते हैं काला धन को सफेद करना.लोग भूख से मर रहे हैं और भाजपा अरबों रुपए चुनाव अभियान में फूंकने को तैयार है.” अब देखिये इस तस्वीर की पूरी सच्चाई.

 

इस तस्वीर को आई सपोर्ट रवीश कुमार नाम के पेज से अपलोड किया गया है. जब इस तस्वीर की सच्चाई सामने आई तो सब हैरान रह गये. दरअसल यह तस्वीर उत्तर प्रदेश की है. जब उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले थे उस समय गोरखपुर में इस तरह की 245 बाइक्स और 3 स्कूटी का इस्तेमाल चुनाव में किया गया था. अब इनका इस्तेमाल तेलंगाना में किया जा रहा है. गोरखपुर में वितरित करने के लिए खड़ी गाड़ियों की तस्वीर को दिखाकर राजस्थान चुनाव से जोड़कर लोगों को भ्रमित किया जा रहा है.

Source-thelallantop.com राजस्थान बीजेपी के मीडिया इंचार्ज विमल कटियार

बता दें कि राजस्थान भाजपा के मीडिया इंचार्ज विमल कटियार ने बताया कि “200 विधानसभा क्षेत्रों के हिसाब से बजाज की 200 सीटी-100 बाइक्स बांटी जा रही हैं. यह 10 लाख का फर्जी आंकड़ा किसी ने अपनी मर्जी से डाल दिया है. यह एकदम गलत है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर पूरी तरह से फर्जी साबित हुई है. इसे अब विरोधियों द्वारा बीजेपी के खिलाफ लोगों के बीच भ्रम पैदा करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है. आप भी इस खबर को ज़्यादा से ज़्यादा शेयर कर लोगों को जागरूक करें और सच्चाई दिखाए.

Source-thelallantop.com