Breaking News
Home / Political / सरकार में फूट? पीएम के हाथ बढ़ाने के बावजूद अरुण जेटली ने हाथ मिलाने से किया इंकार, अब जानिए पूरी बात

सरकार में फूट? पीएम के हाथ बढ़ाने के बावजूद अरुण जेटली ने हाथ मिलाने से किया इंकार, अब जानिए पूरी बात

9 अगस्त गुरूवार को राज्यसभा में उपसभापति का चुनाव होना था. जिसके चलते राज्यसभा में तमाम नेता पहुंचे थे. चुनाव के लिए वोटिंग हुई तो नतीजों ने होश उड़ा दिए थे. विपक्ष की तरफ से बीके हरिप्रसाद को और एनडीए की तरफ से हरिवंश जी को उम्मीदवार बनाया गया था. वोटिंग के बाद राज्यसभा के उपसभापति एनडीए के हरिवंश चुन लिए गये हैं. विपक्ष के बीके प्रसाद को महज 105 वोट ही मिले. वहीँ एनडीए के पाले में 125 वोट पड़कर राज्यसभा पर सम्पूर्ण कब्जा कर जीत दर्ज कर ली है. राज्यसभा में उपसभापति का चुनाव जीतने के बाद मानसून सत्र के दौरान विपक्ष को दोहरा झटका लगा है.

Image Source-khabarindiatv

जानकारी के लिए बता दें राज्यसभा में उपसभापति का चुनाव जीतने के बाद हरिवंश जी को बधाई देने के लिए लोगों का तांता लग गया. पीएम मोदी जी समेत तमाम नेता उन्हें बधाई देने के लिए पहुंचने लगे. गुरूवार का दिन राज्यसभा के लिए पूरा उपसभापति के चुनाव के लिए ही था. इस दौरान एक बेहद ही महत्वपूर्ण बात ये रही कि तीन महीने के रेस्ट के बाद केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली भी संसद में पहुंचे थे. इस दौरान एक ऐसा वाकया देखने को मिला, जिसका आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते हैं. जी हाँ हरिवंश जी को बधाई देने के क्रम में पीएम मोदी जी जैसे ही आगे बढ़े तो आगे अरुण जेटली खड़े हुए थे.जेटली को देखकर पीएम मोदी जी ने उनकी तरफ हाथ मिलाने के लिए बढ़ाया तो जेटली ने उनसे हाथ मिलाने के लिए इंकार कर दिया.

Image Source-khabar.Ndtv

गौरतलब है कि अरुण जेटली किडनी ट्रांसप्लांट होने के बाद पहली बार संसद पहुंचे थे. वह करीब 3 महीनों से रेस्ट पर थे. राज्यसभा में उपसभापति के चुनाव के लिए वह अपना वोट डालने संसद पहुंचे थे. चुनाव जीतने के बाद पीएम मोदी जी ने हरिवंश जी की तरफ आगे बढ़ते हुए पूरे जोश के साथ हाथ मिलाते हुए उन्हें बधाई दी. जिसके बाद मोदी जी अपनी सीट की तरफ वापस आ रहे थे तो उनके बगल में अरुण जेटली की सीट थी. जिसे देखते हुए उन्होंने जेटली से हाथ मिलाने के लिए हाथ को आगे बढ़ाया तो उन्होंने मुस्कराते हुए संकेत दिया कि वह हाथ नहीं मिला सकते. जिसके बाद उन्होंने हाथ जोड़कर नमस्कार कर लिया. पीएम मोदी जी ने भी इसका उनको जवाब दिया.

Image Source-aajtak

दरअसल किडनी ट्रांसप्लांट के बाद डॉक्टरों ने उन्हें बचकर रहने को कहा है. डॉक्टरों का कहना है कि वह लोगों से मेलजोल कम ही रखें. जिसके चलते ही वह करीब 3 माह से अपने घर पर ही आराम कर रहे हैं. पीएम मोदी जी ने उनकी तबियत के चलते वित्त मंत्रालय का कार्यभार रेलमंत्री को सौंप दिया था. वोटिंग से पहले राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने पहले ही लोगों से कह दिया था कि कोई भी अरुण जेटली के पास जाकर छूने की कोशिश नहीं करेगा क्योंकि अभी उनकी सेहत ठीक नही है. जिसके बाद विपक्ष के नेताओं ने भी मेज थपथपाकर उनका अभिनंदन किया. इस स्थिति में भी वह अपने काम के प्रति बेहद जागरूक हैं. बताया जा रहा है कि जल्द ही वह अपना कार्यभार भी संभाल लेंगे.

New Source-Aajtak