Breaking News
Home / Uncategorized / राज्यसभा उपसभापति चुनाव: इस तिकड़ी ने ऐसे बिगाड़ दिया विपक्ष का पूरा खेल, जानकर आप ‘मोदी-शाह’ की तारीफ किए बिना नही रहेंगे..

राज्यसभा उपसभापति चुनाव: इस तिकड़ी ने ऐसे बिगाड़ दिया विपक्ष का पूरा खेल, जानकर आप ‘मोदी-शाह’ की तारीफ किए बिना नही रहेंगे..

राज्यसभा के उपसभापति चुनाव में विपक्ष को बड़ा झटका लगा है. यह झटका ऐसी तिकड़ी की वजह से लगा है जिन्हें जानकर आप भी अंचभे में पड़ जायेंगे. आपको बता दें कि राज्यसभा उपसभापति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार के तौर पर जेडीयू सांसद हरिवंश जबकि विपक्ष की तरफ से कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद खड़े हुए थे. संख्या बल के हिसाब से देखा जाय तो इस चुनाव में एआईएडीएमके, बीजेडी और टीआरएस की तिकड़ी ने विपक्ष का सारा खेल बिगाड़ दिया जिससे एनडीए उम्मीदवार की जीत हो गई. आइए बताते हैं कैसे चला पूरा घटनाक्रम.

ई पलानीस्वामी, केसीआर और नवीन पटनायक: (Image Source-smedia2)

राज्यसभा उपसभापति चुनाव में इस तिकड़ी ने कांग्रेस का सारा खेल बिगाड़ दिया 

राज्यसभा के उपसभापति चुनाव में एनडीए को बड़ी जीत मिली है. पहले ही साफ था कि इस चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार के जीतने के आसार कम ही लग हैं लेकिन नवीन पटनायक , के चन्द्रशेखर राव और ई पलानीस्वामी की तिकड़ी ने ऐसा दांव खेला कि कांग्रेस के उम्मीदों पर पूरा पानी ही फिर गया. नतीजा ये हुआ कि कांग्रेस के उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद को 105 के मुकाबले एनडीए उम्मीदवार हरिवंश ने 125 मत पाकर हरा दिया.

राज्यसभा के नए उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह: (Image Source-BCDN)

इस चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमित शाह जहां एक ओर एनडीए के सहयोगियों को अपने साथ रखा तो वहीं विपक्ष के खेमें में सेंध लगाने में भी कामयाबी हासिल की.

क्या था आंकड़ा

250 सदस्यीय राज्यसभा में इस समय 244 सदस्य हैं जिसमें से 237 सांसद वोटिंग के वक्त मौजूद थे. 7 सांसदों के वोटिंग से वाक् आउट करने के बाद कुल 237 सांसदो ने वोटिंग में हिस्सा लिया. इसके बाद एनडीए उम्मीदवार हरिवंश के पक्ष में 125 मत पड़े जबकि कांग्रेस उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद के पक्ष में 105 वोट पड़े.

एनडीए उम्मीदवार हरिवंश को 125 जबकि कांग्रेस उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद को 105 वोट मिले: (Image Source-prabhasakhi)

 

कांग्रेस और बीजेपी दोनों बड़ी पार्टियों के इस उच्च सदन में बहुमत का आंकड़ा नही था. ऐसे में उन दलों की भूमिका महत्वपूर्ण थी जो एनडीए या यूपीए के किसी खेमे में नही हैं.

पीएम मोदी ने खुद बीजेडी प्रमुख नवीन पटनायक से बात कर उनका समर्थन हासिल किया. बीजेडी के इस समय राज्यसभा में 9 सदस्य हैं. तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की पार्टी एआईएडीएमके के 13 सांसदों ने भी एनडीए उम्मीदवार के समर्थन में वोट किया. इसके अलावा तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चन्द्रशेखर राव की पार्टी टीआरएस के पास 6 राज्यसभा सदस्य हैं. टीआरएस ने भी एनडीए उम्मीदवार के लिए वोट किया. इन सभी दलों के एनडीए के साथ जाने से कांग्रेस का पूरा समीकरण बिगड़ गया.

 

उपसभापति हरिवंश की जीत में अन्य दलों ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की: ( Image Source-Punjabkesari)

विपक्ष के कई दलों ने वोटिंग में हिस्सा नही लिया इनमें वाईएसआर कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और पीडीपी के सदस्य शामिल हैं. आपको बता दें कि जुलाई 2018 में पीजे कुरियन का कार्यकाल खत्म हो गया था.

 

आपसे एक सीधा सवाल

2019 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए इन दलों का एनडीए को समर्थन देना बीजेपी के लिए कितना फायदेमंद होगा?

News Source-AAjtak