Breaking News
Home / News / उपसभापति चुनाव में NDA की जीत के बाद पीएम मोदी ने कहा कुछ ऐसा कि विपक्ष भी ठहाके लगाने से खुद को रोक नहीं सका

उपसभापति चुनाव में NDA की जीत के बाद पीएम मोदी ने कहा कुछ ऐसा कि विपक्ष भी ठहाके लगाने से खुद को रोक नहीं सका

राज्यसभा के उपसभापति पद का चुनाव सम्पन्न हो चुका है, इस चुनाव में सत्तापक्ष (NDA) की तरफ से उम्मीदवार रहे हरिवंश नारायण सिंह, जोकि JDU के राज्यसभा सांसद और एक पत्रकार के रूप में भी रह चुके हैं, उन्होंने जीत दर्ज की है. विपक्ष की तरफ से बीके हरी प्रसाद जोकि कर्नाटक से राज्यसभा सांसद हैं और कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव भी हैं, उन्हें इस चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है. बता दें कि JDU के राज्यसभा सांसद हरिवंश नारायण सिंह के जीतने पर पीएम मोदी ने बधाई देते हुए कुछ ऐसा कहा कि जो बेहद दिलचस्प है और विपक्ष भी खुद को ठहाके लगाने से रोक नहीं सका.

NDA की जीत के बाद पीएम मोदी ने अरुण जेटली के स्वास्थ्य लाभ लेने के बाद सदन वापसी पर ख़ुशी जताई (फोटो सोर्स: यूट्यूब)

किसको मिले कितने वोट

उपसभापति के चुनाव को जीतने के लिए किसी भी खेमे के उमीदवार को 119 सीटों की जरूरत थी. क्योंकि अभी उच्च सदन में संख्या 244 है. वोटिंग से सात सांसदों (आप के 3, YSR कांग्रेस के 2 और पीडीपी के 2)के बाहर रहने के कारण 237 सांसद ही सदन में मौजूद रहे. जिसके कारण बहुमत के लिए 119 वोटों की जरूरत थी. इस लड़ाई में भाजपा की तरफ से उम्मीदवार रहे हरिवंश को 125 वोट तो वहीं विपक्ष के हरिप्रसाद को 105 वोट मिले.

उपसभापति का चुनाव जीतने के बाद पीएम मोदी हरिवंश को बधाई देते हुए (फोटो सोर्स: ANI)

इस जीत के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने हरिवंश को राज्यसभा का उपसभापति बनने की बधाई देते हुए कहा, “बलिया का अगस्त क्रांति में काफी अहम योगदान है और हरिवंश जी भी उसी धरती से आते हैं. सांसद के रूप में भी उनका कार्यकाल सफल रहा है. इस चुनाव में दोनों तरफ से हरि थे और परिणाम के बाद मेरा यही मानना है कि यह सदन अब हरि के भरोसे है. उम्मीद है सांसदों पर ‘हरि कृपा’ बनी रहेगी.”

देखिये वीडियो में पीएम मोदी ने ऐसा क्या कहा कि पूरा सदन हंसने लगा:

 

विपक्ष एकजुट है ?

बता दें कि सत्ताबल के पास वोटों की संख्या के आधार पर पहले ही साफ़ था कि विपक्ष के उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद की हार तय हैं. हालाँकि विपक्ष उम्मीदवार का चुनाव से पहले कहना था कि, “हमारे पास जरूरी संख्या मौजूद है, विपक्ष एकजुट है.”