Breaking News
Home / News / पाकिस्तान को बड़ा झटका, पहले अमेरिका हर साल देता था 1 अरब डॉलर लेकिन अब…

पाकिस्तान को बड़ा झटका, पहले अमेरिका हर साल देता था 1 अरब डॉलर लेकिन अब…

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आए दिन विदेश दौरे पर जाते हैं और इसके पीछे के मंशा बिल्कुल ही साफ है, भारत और अन्य देशों के रिश्ते और अच्छे बन सके. पीएम मोदी द्वारा किए गए कोशिशों की वजह से ही आज भारत दुनियाभर में एक मजबूत राष्ट्र बनकर उभरा है. दुनियाभर के सारे देश भारत में इन्वेस्ट करना चाहते हैं और इससे भारत की अर्थव्यवस्था में काफी ज्यादा सुधार होगा. जहां भारत आए दिन नई-नई ऊंचाइयों को छू रहा है तो वहीं हमारा पड़ोसी देश पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने में भी नाकाम है.

image source: Hindi Samachar

पाकिस्तान के खिलाफ अमेरिका की बड़ी कार्रवाई

पाकिस्तान में आतंकवाद बहुत ही ज्यादा फैला हुआ है और आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पाकिस्तान अमेरिका से आर्थिक मदद मांगता है. अभी तक पाकिस्तान को अमेरिका की तरफ से हर साल करीब 75 करोड़ से लेकर 1 अरब डॉलर(करीब 6,800 करोड़ रुपए) तक मिलते थे, लेकिन अब अमेरिकी संसद में एक ऐसा बिल पारित हुआ है, जिसके बाद पाकिस्तान को इस साल निराशा हाथ लगने वाली है.

image source: samaa Tv

पाकिस्तान को दिए जा रहे सुरक्षा संबंधी आर्थिक सहायता में भारी कटौती की गई है. अमेरिकी संसद में इसे लेकर एक बिल पारित किया गया था, जिसके तहत अब पाकिस्तान को हर साल सिर्फ 15 करोड़ डॉलर(करीब 1 हजार करोड़ रुपए) सहायता के रूप में मिलेंगे. इस बिल को अमेरिकी संसद ने 10 के मुकाबले 87 वोटों से पारित कर लागू कर दिया है.

अमेरिका के ऊपरी सदन से पारित होने से पहले ही निचली सदन ने इस बिल पर मुहर लगा दी थी. दोनों सदनों से पास होने के बाद अब बिल को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पास भेजा जाएगा, जिसमें उनके हस्ताक्षर की जरुरत पड़ेगी.

बिल से हटाया गया ये प्रावधान

जो बिल पारित किया गया है उसमें पहले एक प्रावधान था जिसके तहत, पाकिस्तान अगर हक्कानी नेटवर्क या लश्कर-ए-तैयबा के खिलाफ कार्रवाई करता था, तो उसे प्रमाणपत्र की जरुरत पड़ती थी. लेकिन अब इस प्रावधन को बिल से हटा लिया गया है. अब अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन के पास ऐसा कुछ प्रावधान नहीं बचा है, जिसके आधार पर वो पाकिस्तान को आतंकी गतिविधियों या हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ कार्रवाई के लिए दबाव बना सके.

पाकिस्तान के प्रति ट्रंप का कड़ा रुख

image source: bussiness insider

जब से डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति बने हैं, तभी से उन्होंने पाकिस्तान के ऊपर दबाव बनाया है कि वो आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई करे. इस साल की शुरुआत में ट्रंप ने पाकिस्तान के ऊपर आरोप लगाया था कि वो तालिबान और हक्कानी नेटवर्क को अपने देश में बढ़ावा देता है. सिर्फ आरोप ही नहीं बल्कि ट्रंप ने पाकिस्तान को अमेरिका की तरफ से मिलने वाली सुरक्षा सहायता राशि जोकि करीब 115 करोड़ डॉलर है, उस पर भी रोक लगा दी थी.

NEWS SOURCE: नई दुनिया