Breaking News
Home / Political / महागठबंधन को लेकर बिगड़ गयी बात ? दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने महागठबंधन पर दिया ऐसा बयान कि राहुल के सपनों पर पानी फिर जायेगा !

महागठबंधन को लेकर बिगड़ गयी बात ? दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने महागठबंधन पर दिया ऐसा बयान कि राहुल के सपनों पर पानी फिर जायेगा !

महागठबंधन को लेकर बिहार और उत्तरप्रदेश की राजनीति ही नही बल्कि दिल्ली में भी काफी गहमागहमी चल रही है. इसी गहमागहमी के बीच आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया ने महागठबंधन को लेकर ऐसा तंज कसा है कि राहुल गांधी के सपनों पर पानी फिर जायेगा. दरअसल दिल्ली के जंतर-मंतर पर मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड के विरोध में महागठबंधन के मुखिया तेजस्वी यादव धरने पर बैठे थे. इस धरने में राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल सहित विपक्षी दल के कई नेता शामिल हुए. लेकिन आप को जंतर-मंतर पर ऐसा मंत्र लगा कि महागठबंधन पर ही निशाना साध बैठे. आइए बताते हैं आप नेता मनीष सिसोदिया ने क्या कह दिया.

आप नेता मनीष सिसोदिया: (Image Source-Daiknikbhaskar)

महागठबंधन पर आप ने कसा तंज

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने महागठबंधन को लेकर ऐसा तंज कसा है कि आप भी सोच में पड़ जायेंगे. उन्होंने कहा महागठबंधन केवल टीवी में होता दिख रहा है. हम महागठबंधऩ में नही हैं. महागठबंधन में तो महान लोग हैं. हम कहां से आ गए. 

आप नेता मनीष सिसोदिया के इस बयान के बाद राहुल गांधी और महागठबंधन की अकांक्षाओं पर पानी फिरता दिख रहा है. वैसे मनीष सिसोदिया ने तंज बड़े ही सधे हुए अंदाज में कसा है. उन्होंने कहा कि यह महागठबंधन तो केवल राज्यों में होता दिख रहा है. तो फिर हमारा इसमें क्या काम है? 

राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल: (Image Source-Ste india)

 

सिसोदिया ने कहा कि अखिलेश-मायावती और कांग्रेस-आरजेडी अगर महागठबंधन है तो यह अच्छी बात है लेकिन यह जमीन पर कम टीवी पर ज्यादा दिख रहा है. उन्होंने इसके अस्तित्व को लेकर ही सवाल उठाते हुए कहा कि राजनीति में कुछ तय नही होता. इस महागठबंधन का भविष्य ही बतायेगा.

क्या है मामला 

मनीष सिसोदिया ने यह बयान जिस घटना के बाद दिया वह हम आपको बताने जा रहे हैं. दरअसल बिहार के मुजफ्फरपुर में हुए शेल्टर होम कांड के बाद महागठबंधऩ के नेता इसे भुनाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं इसी कड़ी में आरजेडी नेता और महागठबंधऩ के मुखिया तेजस्वी यादव ने 4 अगस्त को दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना और कैंडल मार्च का आयोजन किया था. इस धरने में आप नेता अरविंद केजरीवाल भी पहुंचे थे लेकिन राहुल गांधी के आने से पहले ही वह वहां से निकल गए.

राहुल गांधी, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, अाप नेता अरविंद केजरीवाल और सपा नेता अखिलेश यादव: (Image Source-Gastriccom)

 

माना जा रहा है कि राहुल गांधी के साथ मंच साझा न करने के पीछे आप की एक ही मंशा है, अपने राजनीतिक कद का एहसास कराना. इसी कारण आम आदमी पार्टी और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने महागठबंधन पर भी हमला बोला है. इस हमले से केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी अपने वजूद का एहसास करवाने में सफल तो हो गई है लेकिन राहुल गांधी सहित अन्य विपक्षी दलों को बड़ा झटका लगा है.

 

आपसे एक सीधा सवाल

आम आदमी पार्टी द्वारा महागठबंधऩ पर हमला विपक्षी दलों को कितना नुकसान पहुंचायेगा?

News Source-News18