Breaking News
Home / Uncategorized / ज्योतिरादित्य सिंधिया से नितिन गडकरी जी ने सदन में मांगी माफ़ी, वजह जानकर आपको भी होगा गर्व

ज्योतिरादित्य सिंधिया से नितिन गडकरी जी ने सदन में मांगी माफ़ी, वजह जानकर आपको भी होगा गर्व

देश में मोदी सरकार के आने के बाद लगातार बदलाव देखने  को मिल रहा है. देश एक नई ऊँचाइयों पर जा रहा है. विश्व में देश कीर्तिमान स्थापित कर रहा है. बता दें कि इस समय संसद का मानसून सत्र चल रहा है. मानसून सत्र में लोकसभा में शून्य काल का एक ऐसा मौका आया जब सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को कांग्रेस के सांसद से सदन में माफ़ी मागी. पूरी खबर पढ़कर आप चौंक जायेंगे!

Source-The Indian Express

जानकारी के लिए बता दें कि लोकसभा का शून्य काल प्रारम्भ होते ही कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई कांग्रेसी नेताओं ने हंगामा शुरू कर दिया. सिंधिया का कहना था कि उनके क्षेत्र में शिवपुरी – देवास ‘फोर – लेन’ राजमार्ग के उद्घाटन कार्यक्रम में उन्हें नही बुलाया गया था . सिंधिया गुना से सांसद  है.  कार्यक्रम के पत्रिका पर सिंधिया का नाम ना होने से वे इतने नाराज हो गये कि सदन में हंगामा करते हुए केन्द्रीय मंत्री से जवाब मांगने  लगे.

Source-The Indian Express

इसके  बाद गडकरी जी खड़े हुए  और उन्होंने कहा कि हाँ ये बात तो सही है कि मैं उस कार्य्रकम में शामिल हुआ था और यह भी सही है कि सांसद का नाम पत्रिका में नही छपा था. मैं विभाग का मंत्री हूँ और जो विभाग की तरफ से गलती हुई है इसलिए विभाग की तरफ से सम्मानित सांसद से माफ़ी मांगता हूँ. बता दे कि गडकरी जी के माफ़ी मांगने के बाद भी सिंधिया शांत नही हो रहे थे तो स्पीकर सुमित्रा महाजन ने उन्हें जबरदसत फटकार लगाई.

Source-Hindustan Times

सुमित्रा महाजन ने गडकरी की तारीफ़ की और माफ़ी मांगने के बाद हल्ला कर रहे सिंधिया को डांट लगायी. आपको बता दें कि ये मोदी सरकार के मंत्रियो के संस्कार है जो गलती होने पर तुरंत माफ़ी मांगने से गुरेज नही करते हैं. वहीँ दूसरी तरफ कांग्रेस के नेताओं और प्रवक्ताओं की जुबान पर गाली  ही रहती है. माफ़ी मांगने के बाद आज गडकरी जी की हर तरफ तारीफ हो रही है. हमें गर्व महसूस होना चाहिए कि हमारे पास ऐसे मंत्री है जो गलती होने पर माफ़ी मांगने से गुरेज नही करते .