Breaking News
Home / News / बीजेपी-शिवसेना में कड़वाहट के बीच इन दोनों की हुई मुलाकात तो देखिये क्या निकला नतीजा 2019 में…

बीजेपी-शिवसेना में कड़वाहट के बीच इन दोनों की हुई मुलाकात तो देखिये क्या निकला नतीजा 2019 में…

केंद्र में बीजेपी की सरकार आने के बाद से पीएम मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने देश के अधिकतर राज्यों में अपनी प्रचंड जीत का परचम लहराकर विरोधी पार्टियों का सफाया किया है. पीएम मोदी जी की लगातार बढ़ रही लोकप्रियता को देख विरोधी पार्टियों में हलचल मच गयी है. आज देश के 90 फीसदी क्षेत्र में बीजेपी और उसके सहयोगियों की सरकार है. जिसके चलते सारी विपक्षी पार्टियाँ एक हो रही हैं. अब होने वाले चुनावों में कई पार्टियाँ गठबंधन करके बीजेपी के सामने मैदान में आ रही हैं.

पीएम मोदी Image Source

जानकारी के लिए बता दें बीजेपी अपनी सहयोगी पार्टियों से बेहतर रिश्ते कायम कर रही है. बीजेपी-शिवसेना के बीच चल रही फूट को लेकर नाच रहे विरोधियों की ख़ुशी पर अब लगाम लग गयी है. बुधवार रात बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से उनके घर मातोश्री पहुंचकर मुलाकात की है. वहां पहुंचने के बाद दोनों नेताओं में करीब 2 घंटे तक बातचीत हुई. बातचीत के दौरान उद्धव ठाकरे ने अमित शाह के समक्ष अपनी और बीजेपी को लेकर सभी नाराजगियों को रखा. सूत्रों ने बताया है कि अमित शाह ने उनकी सारी शिकायतें दूर करने का आश्वासन दिया है.

अपने परिवार के साथ अमित शाह जी का स्वागत करते हुए उद्धव ठाकरे Image Source

विरोधियों की खुशियों पर लगी लगाम 

राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से बातचीत के बाद उद्धव ठाकरे खुश हो गये हैं और उन्होंने आने वाले 2019 लोकसभा चुनाव में गठबंधन पर बात करने पर तैयार हो गये हैं. उद्धव ठाकरे और बीजेपी के बीच बनी बात से विरोधियों की खुशियों पर लगाम लग गयी है. जब अमित शाह उद्धव के घर पहुंचे थे तो उस दौरान उद्धव ठाकरे ने पूरे परिवार के साथ उनका स्वागत किया. अमित शाह के साथ में राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस भी साथ पहुंचे हुए थे. जब तक अमित शाह और उद्धव ठाकरे के बीच बातचीत चली तब तक सीएम फड़णवीस को बाहर बैठकर के ही इन्तजार करना पड़ा.

राहुल-सोनिया गाँधी Image Source

गौरतलब है कि यह बातचीत एक घंटे चलने वाली थी लेकिन 2 घंटे तक दोनों लोगों के बीच बातचीत चली. दरअसल पालघर में हुए उपचुनाव के दौरान उद्धव ठाकरे ने बीजेपी नेताओं पर आपत्ति जताई थी. जिसके बाद उद्धव ने 2019 में अकेले लड़ने का ऐलान कर दिया था. अब अमित शाह से बाचतीत के बाद उन्होंने अपनी बात रखी जिसके बाद अमित शाह ने उनकी शिकायतें दूर करने का भरोसा दिलाया है. इसी के साथ उन्होंने 2019 का लोकसभा चुनाव साथ लड़ने को भी कहा है. उद्धव ठाकरे ने बताया कि अगले महीने उनके नेताओं की बैठक होगी जिसमें सारे मतभेद खत्म कर दिए जायेंगे. बातचीत खत्म होने के बाद सभी नेताओं ने साथ में डिनर किया जिसके बाद अमित शाह वहां से चले आये और अमित शाह को बाहर तक छोड़ने खुद उद्धव आये, जिसके बाद अमित शाह सीधे शहयाद्री गेस्ट हाउस के लिए निकल गये.

News Source